Chairman’s Message

अध्यक्ष की कलम से…
समय कम है और काम अधिक…इसलिए साथी हाथ बढ़ाना

माननीय सदस्यों को जयपुर की शान, पत्रकारों की जान पिंकसिटी प्रेस क्लब के 29वें स्थापना दिवस की हार्दिक बधाई प्रेषित करते हुए बहुत हर्ष हो रहा है। कोरोना का समय और प्रेस क्लब के पूर्व प्रबंधन की लापरवाही की वजह से हर सदस्य को लग रहा था कि इस बार पिंकसिटी प्रेस क्लब का स्थापना दिवस न जाने मनाया जाएगा या नहीं लेकिन आप सभी के आशीर्वाद और सहयोग से इसी माह हमें ये क्लब प्रबंधन की जिम्मेदारी मिली और साथ में जिम्मेदारी मिली प्रेस क्लब के स्थापना दिवस की। मुझे खुशी है कि इस कार्यक्रम के आयोजन में न तो आर्थिक स्थिति आड़े आएगी और न ही कोई अन्य कारण। हमेशा की तरह तीन दिवसीय प्रेस क्लब का स्थापना दिवस आयोजित हो रहा है जो बुधवार से शुरू हो चुका है।
माननीय सदस्यगण, आपसे कुछ भी छिपा नहीं है। प्रेस क्लब की स्थितियां विकट से विकटम हो चुकी थी या यूं कहना चाहिए कि अब भी हैं। प्रेस क्लब आज भी कोर्ट में लड़ाई लड़ रहा है और वह भी हमारे अपनों द्वारा किए गए मुकदमों में। प्रेस क्लब के 28 साल के इतिहास में मुझे आपके प्रेम और सहयोग के बूते निर्विरोध निर्वाचित होने का मौका मिला है तो जिम्मेदारी भी बड़ी है।

समय कम है और काम ज्यादा है इसलिए मुझे आप सभी का सहयोग और मार्गदर्शन चाहिए। बहरहाल जब ये संदेश आप पढ़ रहे होंगे, हमारी कार्यकारिणी को अस्तित्व में आए करीब 15 दिन हो चुके हैं। इस दौरान प्रेस क्लब की कैंटीन की व्यवस्थाओं में आमूलचूल परिवर्तन किया है। पूर्व कार्यकारिणी के समय लाखों रुपए की उधारी थी जिस पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया गया है और वसूली भी की जा रही है।

मेरी कोशिश रहेगी कि वर्षों से अटकी पड़ी पत्रकार आवास योजना पर जल्दी से जल्दी काम हो और वंचित पत्रकारों को भी मौका मिले। मैं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का आभार प्रकट करना चाहता हूं उन्होंने वरिष्ठ पत्रकारों की पेंशन सम्मान योजना के नियमों का सरलीकरण किया है और वे भी पत्रकारों को आवास देने के लिए संकल्पबद्ध है। इसके अलावा हमारी कोशिश ये भी होगी कि पत्रकार अधिस्वीकरण के नियमों का सरलीकरण हो ताकि अधिक से अधिक पत्रकार साथियों को इसका लाभ मिल सके। प्रेस क्लब का बहुत बड़ा कर्ज है जो चुकाना है। क्लब को आर्थिक मोर्चे पर मजबूती प्रदान करने पर हमारी कार्यकारिणी का फोकस रहेगा।

अन्त में मैं इतना ही निवेदन करना चाहूंगा कि आपसी चुनावी मतभेदों से ऊपर उठकर हमें क्लब की बहबूदी के लिए काम करना है। मैं सभी के अनुभवों का लाभ उठाना चाहता हूं। दिशा सिर्फ एक होनी चाहिए कि पिंकसिटी प्रेस क्लब की गरिमा, प्रतिष्ठा को कैसे देशभर में स्थापित किया जाए।
‘अभी मुसाफिर हूं मंजिलों का, खबर कामयाबी की भी सुनाऊंगा। थोड़ा सब्र रख ए वक्त तुझे बदलकर भी दिखाऊंगा।

आपका अपना
*मुकेश मीणा*
अध्यक्ष, पिंकसिटी प्रेस क्लब, जयपुर।

Author